ads

ECB करेगा खिलाड़ियों के सोशल मीडिया अकाउंट्स की समीक्षा, आपत्तिजनक पोस्ट मिला तो लग सकता है बैन

इंग्लैंड के क्रिकेटरों को अब सोशल मीडिया पर कोई भी पोस्ट करने से पहले ध्यान रखना होगा। अगर किसी क्रिकेटर ने आपत्तिजनक पोस्ट डाली तो इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) उसके खिलाफ एक्शन ले सकता है। ईसीबी अपने खिलाड़ियों के सोशल मीडिया अकाउंट की समीक्षा भी करेगा, जिससे खिलाड़ियों पर उनकी आपत्तिजनक पोस्ट के लिए अनुशासनात्मक प्रतिबंध लग सकता है। हाल ही ईसीबी ने टीम के तेज गेंदबाज ओली रॉबिनसन को उनके 8 साल पुराने नस्लीय ट्वीट के लिए सस्पेंड कर दिया है। ओली रॉबिनसन ने ये ट्वीट वर्ष 2012-13 में किए थे।

चल रही एक अन्य खिलाड़ी के ट्वीट की जांच
हाल ही लॉर्ड्स में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दौरान तब हंगामा हो गया था, जब ओली रॉबिनसन के पुराने ट्वीट वायरल हो गए। ओली रॉबिनसन का यह डेब्यू टेस्ट मैच था और उन्होंने मैच के बाद अपने पुराने ट्वीट पर माफी भी मांग ली थी। हालांकि इसके बाद खेल में नस्लवाद को लेकर बहस शुरू हो गई। वहीं ईसीबी ने ओली रॉबिनसन को इंटरनेशनल क्रिकेट से सस्पेंड कर दिया। वहीं ईसीबी एक अन्य खिलाड़ी की आपत्तिजनक ट्वीट की भी जांच कर रहा है।

यह भी पढ़ें— 6 साल की बच्ची का बैटिंग टैलेंट देख आनंद महिन्द्रा हुए इंप्रेस, शेयर किया वीडियो

ollie_robinson.png

ईसीबी ने जारी किया बयान
ईसीबी ने इस संबंध में एक बयान जारी करते हुए कहा कि बोर्ड कार्यकारी की सोशल मीडिया समीक्षा की सिफारिश पर सहमत हो गया, जिसमें किसी भी पुराने मुद्दे का निपटारा किया जाएगा। साथ ही बयान में कहा गया है कि खिलाड़ियों को उनकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी भी याद दिलाई जाएगी और उन्हें सबक सीखने में भी मदद मिलेगी। हाल ही ईसीबी की एक बैठक हुई। इस समीक्षा बैठक में प्रशासक, खिलाड़ी,कोच और पेशेवर क्रिकेट संघ शामिल हुए। ईसीबी ने स्पष्ट कहा कि इस प्रक्रिया से खिलाड़ी भविष्य में अनुशासनात्मक कार्रवाई से नहीं बच पाएंगे।

यह भी पढ़ें— ओली रॉबिनसन सालों पुराने ट्वीट के कारण हुए सस्पेंड अब क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से लिया ब्रेक

एक्शन की जांच करनी चाहिए
ईसीबी के अध्यक्ष इयान वाटमोर ने कहा, 'क्रिकेट को सभी का खेल बनाना खेल की 'प्रेरणादायक पीढ़ी की रणनीति का केंद्र है। राष्ट्रीय संचालन संस्था के तौर पर हमें एक छवि पेश करने में मदद के लिए एक बीच का रास्ता तय करना चाहिए, उन्हें शिक्षित करना चाहिए कि उनसे क्या उम्मीद की जाती है और उन्हें सार्वजनिक रूप से खुद को व्यक्त करने की जगह भी देनी चाहिए। हमें उनके एक्शन की भी जांच करनी चाहिए और इसमें कमी आने पर उन्हें दंडित भी करना चाहिए।’



Source ECB करेगा खिलाड़ियों के सोशल मीडिया अकाउंट्स की समीक्षा, आपत्तिजनक पोस्ट मिला तो लग सकता है बैन
https://ift.tt/35tVUZn

Post a Comment

0 Comments