ads

आज ही के दिन धोनी के एक फैसले से टीम इंडिया ने इंग्लैंड में जीती थी चैंपियंस ट्रॉफी

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी सबसे सफल कप्तानों में से एकक रहे हैं। उनके नेतृत्व में टीम इंडिया ने कई खिताब जीते हैं। आज का दिन यानि 23 जून टीम इंडिया और क्रिकेट फैंस के लिए खास है। 23 जून, 2013 को को भारतीय टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में खेले गए फाइनल मैच में टीम इंडिया ने 5 रन से मेजबान टीम को मात देकर यह खिताब अपने नाम किया था। इसी के साथ आईसीसी की तीनों ट्रॉफी जीतने वाले धोनी पहले कप्तान बन गए थे। धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप, वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी जीती। वहीं 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जीतने में धोनी के एक फैसले की अहम भूमिका रही थी।

फाइनल में बेहद खराब रही थी टीम की बैटिंग
बारिश की वजह से चैंपियंस ट्रॉफी का मैच 20-20 ओवर का कर दिया गया था। वहीं फाइनल में टीम इंडिया की बल्लेबाजी बेहद खराब रही थी। टीम इंडिया का कोई भी खिलाड़ी बड़ी पारी नहीं खेल सका था। रोहित शर्मा ने 9 रन बाए थे। वहीं सुरेश रैना ने 1 रन और कप्तान धोनी खाता तक नहीं खोल सके थे। वहीं विराट कोहली ने 34 गेंदों में 43 रन बनाए थे और शिखर धवन ने 31 रनों का योगदान दिया। रवींद्र जडेजा ने इस मैच में नाबाद 33 रनों की पारी खेली थी। फाइनल में भारत ने 20 ओवर में मात्र 129 रन ही बनाए थे।

यह भी पढ़ें— नीतीश राणा का खुलासा: धोनी को 'भगवान' की तरह मानते हैं पंत, माही से तुलना पसंद नहीं

team_india.png

जीता हुआ मैच हार गया इंग्लैंड
टीम इंडिया के 129 रनों के जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड टीम की शुरुआत खराब रही थी। इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक मात्र 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे। वहीं इयान बेल ने 13 रन और जो रूट ने 7 रन ही बनाए। हालांकि इसके बाद इयोन मॉर्गन और रवि बोपारा ने अच्छी बल्लेबाजी की और छठे विकेट के लिए 64 रन जोड़े। ऐसे 17 ओवर में इंग्लैंड के 102 रन हो गया था और टीम जीत की ओर बढ़ रही थी, लेकिन धोनी के फैसले की वजह से इंग्लैंड की टीम जीता हुआ मैच हार गई।

धोनी के फैसले पर एक्सपर्ट्स ने खड़े किए थे सवाल
मैच को इंग्लैंड के पक्ष में जाते हुए देखकर कप्तान धोनी ने एक अहम फैसला लिया, जिसने मैच को इंग्लैंड से छीन लिया। दरअसल, 18वें ओवर में धोनी ने इशांत शर्मा को गेंदबाजी सौंपी। इस मैच में इशांत इससे पहले 3 ओवरों में 27 रन दे चुके थे। ऐसे में क्रिकेट एक्सपर्ट्स ने धोनी के इस फैसले पर सवाल उठाए थे। जब इशांत ने 18वां ओवर डाला तो मॉर्गन ने इशांत की बॉल पर सिक्स लगा दिया। वहीं उन्होंने अगली दो गेंद वाइड डाली। लेकिन इसके बाद इशांत ने सबको चौंका दिया। उन्होंने मॉर्गन को आउट किया और अगली ही गेंद पर रवि बोपारा को भी पवेलियन भेज दिया। ऐसे में हारता हुआ मैच एक बार फिर से टीम इंडिया के पक्ष में हो गया। लगातार दो विकेट गिरने से इंग्लैंड की टीम लड़खड़ा गई।

यह भी पढ़ें— किरण मोरे का दावा-धोनी को विकेटकीपिंग कराने के लिए गांगुली से हुई थी बहस, मनाने में लगे थे 10 दिन

लास्ट ओवर में धोनी ने फिर लिया एक अहम फैसला
वहीं मैच के लास्ट ओवर में धोनी ने फिर से एक चौंकाने वाला फैसला लिया। लास्ट ओवर में इंग्लैंड को जीतने के लिए 15 रन चाहिए थे। धोनी ने लास्ट ओवर ऑफ स्पिनर अश्विन को सौंप दिया। अश्विन ने ओवर की शुरुआती 2 गेंदों पर 5 रन दे दिए। हालांकि इसके बाद अश्विन ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए अंतिम 4 बॉल में इंग्लैड को बड़े शॉट लगाने का कोई मौका नहीं दिया और भारत ने 5 रनों से फाइनल जीत लिया।



Source आज ही के दिन धोनी के एक फैसले से टीम इंडिया ने इंग्लैंड में जीती थी चैंपियंस ट्रॉफी
https://ift.tt/3j5T9VO

Post a Comment

0 Comments