ads

मिस्बाह ने बताया आमिर को टीम से बाहर करने का कारण बोले-'खुले हैं वापसी के दरवाजे'

 

नई दिल्ली। पाकिस्तान टीम के कोच मिस्बाह उल हक (Coach Misbah Ul Haq) ने कहा कि मोहम्मद आमिर (mohammad amir) के लिए अभी भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दरवाजे खुले हैं, बशर्ते वह संन्यास से बाहर आएं और अच्छा प्रदर्शन करें। पूर्व कप्तान ने कहा, जब मैं कप्तान था तब मोहम्मद आमिर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की थी। पिछले साल, हम उन्हें इंग्लैंड ले गए जब मैं न केवल मुख्य कोच बल्कि मुख्य चयनकर्ता भी था। उन्हें उनके प्रदर्शन और चोटों के कारण बाहर किया गया था। उन्होंने संन्यास की घोषणा की। अगर वह संन्यास से बाहर आकर अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो किसी भी अन्य खिलाड़ी की तरह ही उनके लिए भी दरवाजे खुले हैं।

यह भी पढ़ें:—युवराज से लेकर कोहली तक इन 5 क्रिकेटर्स के पास हैं सबसे महंगे घर, तस्वीरों में देखें एक झलक

टी 20 वर्ल्ड की तैयारियों के लिए अच्छा मौका
मिस्बाह ने कहा है कि इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के आगामी दौरे से टीम को ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करने को मिलेंगे और इससे टी 20 विश्व कप की तैयारियों के लिए टीम को फायदा होगा।

बतौर कोच मेरे लिए अच्छा चांस
मिस्बाह ने शनिवार को कहा, मैं इसे (इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के दौरे को) गंभीरता से ले रहा हूं और यह मेरे लिए बतौर कोच और एक टीम के रूप में एक अच्छा मौका है। विश्व कप की तैयारियों से पहले तैयारी करने का हमारे लिए यह एक अच्छा मौका है। इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान को 8 जुलाई से तीन वनडे और इतने ही मैचों की टी 20 सीरीज खेलनी है। इसके बाद वह 27 जुलाई से कैरेबियाई दौरे पर पांच मैचों की टी 20 सीरीज खेलेगी। साथ ही उसे 12 अगस्त से दो मैचों की टेस्ट सीरीज भी खेलनी है।

यह भी पढ़ें— WTC Final: मैदान पर उतरते ही रोहित शर्मा ने अपने नाम किया एक नया रिकॉर्ड

टी20 वर्ल्ड कप से पहले इंग्लैंड और वेस्टइंडीज का दौरा अहम
मिस्बाह ने कहा, टी 20 विश्व कप नजदीक है। हम भाग्यशाली हैं कि हमें अगले दो महीनों में 20 ओवर के विश्व कप और 50 ओवर के विश्व चैंपियन के खिलाफ अपने कौशल का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज हमारे लिए यह जानने के लिए एक अच्छा मौका होगा कि हम इस साल के टी20 विश्व कप से पहले कहां खड़े हैं।



Source मिस्बाह ने बताया आमिर को टीम से बाहर करने का कारण बोले-'खुले हैं वापसी के दरवाजे'
https://ift.tt/3iVjPJ6

Post a Comment

0 Comments