ads

IIM Rohtak convocation: रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों से कहा - कोरोना हमारे लिए चुनौती और अवसर दोनों है

IIM Rohtak: कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बीच केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक आज इंडियन इंस्टीट्यूट मैनेजमेंट रोहतक ( Indian Institute of Management Rohtak ) दसवें दीक्षांत समारोह ( Convocation) में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने सफल छात्रों के बेहतर भविष्य की कामना भी की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि बहुत कम समय में आईआईएम रोहतक ने खुद को शीर्ष बी-स्कूल के रूप में स्थापित करने में सफलता हासिल की है। प्रबंधन स्वाभाविक रूप से दिल और दिमाग का एक ऐसा जरिया जो सभी तरह की व्यवस्थाओं को बेहतर तरीके से संचालित करने में प्रभावी भूमिका निभाता है। आईआईएम रोहतक ने सही मायने में ज्ञान और मूल्य का निर्माण किया है। उन्होंने कोरोना महामारी की चर्चा करते हुए कहा कि इसे सभी को एक चुनौती के साथ अवसर के रूप् में भी लेना चाहिए।

NEP का लाभ उठाने में हमारी मदद कर सकते हैं IIM के छात्र

प्रबंधन के छात्रों को चाहिए कि वो प्राचीन ज्ञान को एकीकृत करें। हमारा इतिहास न केवल न केवल देशवासियों को बल्कि दुनिया को संकटों से उबारता है। नई शिक्षा नीति ( NEP ) को युवा भारतीयों को कैलिबर और मूल्यों से लैस करने के लिए डिजाइन किया गया है, जो एक मजबूत और बढ़ते देश के निर्माण के लिए एक मजबूत आधार प्रदान करेगा। IIM रोहतक NEP का सबसे बेहतर लाभ लाभ उठाने में हमारी मदद कर सकता है।

Read More: Delhi University: CUCET के निर्देश के बाद शुरू होगी एडमिशन प्रक्रिया

युवाओं से की राष्ट्र हित में काम करने की अपील

इससे पहले 15 अप्रैल, 2021 को इग्नू के 34वें दीक्षात समारोह में भी केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक शामिल हुए थे। रमेश पोखरियाल ‘निशंक ने दीक्षांत समारोह में छात्रों को बधाई देते हुए कहा था कि उनके द्वारा अर्जित की गई उपलब्धि शिक्षकों, और अभिभावकों के आशीर्वाद की वजह से है। अब छात्रों की जिम्मेदारी है कि वो न केवल इसके दम पर अपने करिअर को बेहतर बनाएं, बल्कि राष्ट्र को मजबूत बनाने की दिशा में उसका लाभ उठाएं।

Read More: UP BEd JEE 2021 Postponed: कोरोना के चलते यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा स्थगित, 19 मई को आयोजित होनी थी परीक्षा

2009 में हुई थी आईआईएम रोहतक की स्थापना

भारतीय प्रबन्धन संस्थान रोहतक एक बिजनेस स्कूल है। इसकी स्थापना 2009 में हुई थी। यह देश का आठवां भारतीय प्रबन्धन संस्थान है। आईआईएम रोहतक प्रबंधन में स्नातक और स्नातकोत्तर डिप्लोमा, आईपीएम कार्यक्रम, पीएचडी, फेलोशिप आदि पाठ्यक्रमों का संचालन करता है। संस्थान प्रबंधन के क्षेत्र में अपनी तरह का एक अनूठा कार्यक्रम भी प्रस्तुत करता है, जिसे हाई स्कूल पास युवाओं के लिए विशेष तौर पर बनाया गया है। इस कार्यक्रम का मकसद 5 वर्षों के अंतराल में छात्रों को व्यावहारिक ज्ञान के साथ विभिन्न विषयों को ट्रेनिंग देकर सर्वश्रेष्ठ प्रबंधक बनाना है।

Read More: UGC NET 2021 Postpone: यूजीसी नेट परीक्षा हो सकती है स्थगित, नीट पीजी और जेईई मेन के बाद इस परीक्षा पर भी फैसला जल्द

Web Title: IIM Rohtak: Union Education Minister Ramesh Pokhriyal Nishank Attend 10 th Convocation



Source IIM Rohtak convocation: रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों से कहा - कोरोना हमारे लिए चुनौती और अवसर दोनों है
https://ift.tt/3svIpkS

Post a Comment

0 Comments