ads

सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को मिलेगा मेडिकल दाखिले में 7.5 प्रतिशत आरक्षण, यहां पढ़ें

Govt School Student Reservation in MBBS Course: सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को प्रमोट करने के लिहाज से सरकार द्वारा अनेकों प्रयास किए जाते हैं। हाल ही में सरकारी स्कूलों में पढ़ें विद्यार्थियों को 7.5 प्रतिशत आरक्षण MBBS कोर्स के लिए प्रदान किया है।

NEET Quota Bill: 7.5 per cent reservation for UG medical course

तमिलनाडु में अब सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को मेडिकल दाखिले में 7.5 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा । इस बारे में विधेयक राजभवन में लंबे समय से अटका हुआ था । राज्य में चिकित्सा, दंत चिकित्सा, भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी के स्नातक कोर्स के लिए सरकारी विद्यालयों के विद्यार्थियों को प्राथमिकता के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा ।

सरकारी आदेश के मुताबिक, मौजूदा शैक्षणिक वर्ष 2020-21 से MBBS,BDS,BSMS, BAMS , BUMS और BHMS में दाखिले के लिए 7.5 प्रतिशत सीटों पर नीट में सफल होने वाले सरकारी स्कूल के छात्रों को दी जाएगी।

बता दें, यह फैसला सत्तारूढ़ AIADMK-led राज्य सरकार द्वारा एक कार्यकारी आदेश जारी किए जाने के एक दिन बाद आया है जिसमें राज्यपाल ने प्रवेश प्रक्रिया से पहले बिल के प्रावधानों को लागू करने के लिए बाईपास किया था, जो जल्द ही शुरू होगा।

बिल को मंजूरी देने के बाद, राज्यपाल पुरोहित ने एक बयान जारी कर कहा कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एडप्पी के पलानीस्वामी ने पहले कहा था कि नीट कोटा विधेयक के तहत करीब 300 सीटें वंचित परिवार से आने वाले सरकारी स्कूल के छात्रों के लिए आरक्षित की जाएंगी।

NEET 2020 Counselling

मेडिकल-डेंटल कॉलेजों में उपलब्ध स्नातक मेडिकल (एमबीबीएस) और स्नातक डेंटल (बीडीएस) कोर्स की सीटों पर प्रवेश के लिए दो नवंबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू होगी। विद्यार्थी दो नवंबर को सुबह 11 बजे से रजिस्ट्रेशन के लिए जरूरी पिन की मेडिकल प्रवेश समिति की वेबसाइट से खरीदी कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन पिन 9 नवंबर दोपहर चार बजे तक ऑनलाइन ही खरीदे जा सकते हैं और 9 नवंबर को रात 8 बजे तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है।

NEET 2020 Admission Process

स्नातक आयुर्वेदिक (बीएएमएस) और स्नातक होम्योपैथिक कोर्स (बीएचएमएस) कोर्स के लिए भी 2 से 9 नवंबर के दौरान ऑनलाइन पिन खरीदकर रजिस्ट्रेशन किए जा सकते हैं।

कोरोना को देखते हुए हेल्प सेंटरों पर सीधे जाकर रजिस्ट्रेशन की प्रतिलिपि के साथ स्वप्रमाणित प्रमाण-पत्रों की प्रतिलिपि जमा नहीं करा सकेंगे। इसके लिए विद्यार्थियों को पहले हेल्प सेंटर से टाइम और तिथि लेनी होगी यानि दस्तावेज जमा कराने के लिए भी अपोइन्टमेंट लेना होगा। 10 नवंबर दोपहर चार बजे तक दस्तावेज हेल्प सेंटरों पर जमा कराए जा सकेंगे।



Source सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को मिलेगा मेडिकल दाखिले में 7.5 प्रतिशत आरक्षण, यहां पढ़ें
https://ift.tt/35SWwqS

Post a Comment

0 Comments